प्रतिभूति बाजार का परिभाषा (Definition of Security Market)

Categories


Tags


10 Mutual Funds With Highest SIP Returns 10 Mutual Funds With Highest SIP Returns in 5 Years 10 Mutual Funds With Highest SIP Returns in 10 Years Common Facts about National Stock Exchange Corporate Bond in India csc se demat account kaise khole demat account kaise khola jata hai demat account kaise khole demat account kaise khole 2022 demat account kaise khole 2022 mein demat account kaise khole english demat account kaise khole facebook demat account kaise khole free demat account kaise khole free mein demat account kaise khole gaye demat account kaise khole gi demat account kaise khole google demat account kaise khole gya demat account kaise khole hindi demat account kaise khole hindi mein demat account kaise khole in hindi demat account kaise khole ki demat account kaise khole kiye demat account kaise khole kya demat account kaise khole online demat account kaise kholte hain demat account kaise khulta hai Indian Money Market Real Estate And Infrastructure Investment Trusts SEBI Act 1992 SEBI Full Form in Hindi SEBI Kya hai share market demat account kaise khole Stock Exchange ke karya Upstox me demat account kaise khole और कैसे खोले फायदे क्या है डीमेट अकाउंट कैसे खोले डीमैट अकाउंट (Demat Account) क्या है डीमैट अकाउंट कैसे खोलें इन हिंदी भारत में कॉरपोरेट बॉन्ड भारत में कॉरपोरेट बॉन्ड क्या है भारतीय मुद्रा बाजार (Indian Money Market) क्या है भारतीय मुद्रा बाजार क्या है भू भवन संपत्ति एवं अति संरचना निवेश न्यास (Real Estate And Infrastructure Investment Trusts) सेबी (SEBI) अधिनियम 1992

प्रतिभूति बाजार का परिभाषा (Definition of Security Market)

वित्तीय बाजार का वह अंग है जहां से शेयर ,प्रतिभूति बॉन्ड, डिवेंचर ,म्यूच्यूअल फंड इत्यादि के माध्यमों द्वारा दीर्घ अवधि के लिए पूंजी की व्यवस्था की जाती है उसे प्रतिभूति बाजार कहते हैं अर्थात प्रतिभूति बाजार पूंजी बाजार का एक अंग है!

भारतीय प्रतिभूति बाजार के कई संगठन है जिसमें सेबी की भूमिका नियामक है , विभिन्न स्टॉक एक्सचेंज ,अनेक शेयर सूचकांक, ब्रोकर ,fii आई आई आई इत्यादि प्रतिभूति बाजार में विभिन्न प्रकार के लेनदेन संपन्न होते हैं जैसे बदला, प्रतिवर्ती बदला, फ्यूचर ट्रेडिंग, इंसाइडर ट्रेडिंग, निजी प्लेसमेंट , जिसमें कुछ अवैध भी हो सकते हैं!

प्राथमिक और द्वितीयक बाजार (Primary and Secondary Markets)

प्रत्येक प्रतिभूति बाजार कॉम दो भागों में बांटा गया है प्राथमिक एवं द्वितीयक बाजार

अगर फंड रेज के लिए किसी शेयर बॉन्ड की बिक्री की जाती है उसके लिए प्रत्यक्ष खरीददार होता है उसे प्राथमिक बाजार कहते हैं अगर किसी व्यक्ति या संस्थान द्वारा किसी कंपनी का शेयर सीधे कंपनी से खरीदा जाए तो यह प्राथमिक बाजार का कारोबार है तथा खरीदार को प्राथमिक शेयर धारक कहते हैं!

प्रतिभूति बाजार का वह अंग है जहां प्राथमिक शेयरधारकों द्वारा शेरों की आपस में खरीद बिक्री की जाती है उसे द्वितीयक शेयर बाजार कहते हैं किसी भी प्रतिभूति बाजार का अधिकतम कारोबार द्वितीयक बाजार से प्राप्त होता है क्योंकि प्राथमिक बाजार में कंपनियां अपना शेयर बार-बार नहीं भेजती है!

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *